हिमाचल प्रदेश के प्रमुख दर्रे और जोतें ( Major Passes and Jots of Himachal Pradesh )

Major Passes Of HP | Major Jots Of HP | Major Passes and Jots of Himachal Pradesh | HP GK In Hindi | List Of Passes and Jots HP | हिमाचल प्रदेश के दर्रे | हिमाचल प्रदेश की जोतें

हैलो दोस्तों, कैसे हो आप सब आशा करता हूं आप सभी ठीक होंगे। आज हम हिमाचल प्रदेश के प्रमुख दर्रों और जोतों Major Passes and Jots of Himachal Pradesh के बारे में पढ़ेंगे। Major Passes and Jots of Himachal Pradesh से Himachal Pradesh के Competitive Exam में हर बार एक न एक प्रशन देखने को मिलता है। इसलिए Major Passes and Jots of Himachal Pradesh लेख को अंत तक जरूर पढ़ें और साथ ही Major Passes and Jots of Himachal Pradesh लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर Share करें।

हिमाचल प्रदेश के प्रमुख दर्रे और जोतें

जानिए क्या है इस Post में

हिमाचल प्रदेश के प्रमुख दर्रे और जोतें ( Major Passes and Jots of Himachal Pradesh )

हिमाचल पर्वतीय क्षेत्र के बीच बसा एक प्रदेश है ,जिसमे अनेक दर्रे मौजूद है। ये दर्रे प्रदेश में अपनी एक महत्वपूर्ण पहचान रखते है। पर्यावरण ,मौसम तथा आर्थिक दृष्टि से इन दर्रो का अपना एक अलग महत्व है।  इन दर्रो के द्वारा युगो से व्यापार होता आया है व्यापारिक दृष्टि से भी ये काफी महत्वपूर्ण है। इन दर्रो से चरवाहे अपनी भेड़ बकरियों सहित आते जाते रहते है। जहां इन दर्रों से घोड़ों और खच्चरों द्वारा व्यापार होता रहा है।

यह दर्रे शीत ऋतु मैं अक्सर बंद रहते हैं और अप्रैल से अक्टूबर तक खुल जाते हैं। स्थानीय भाषा में दर्रों को ‘ जोत ‘ व ‘ गलू ‘ के नाम से भी जाना जाता है।

हिमाचल प्रदेश के प्रमुख दर्रे और जोतें ( Major Passes and Jots of Himachal Pradesh )

रोहतांग दर्रा ( Rohtang Pass )

रोहतांग दर्रा हिमाचल प्रदेश का सबसे प्रसिद्ध दर्रा है जिसे रोहतांग ला के नाम से भी जाना जाता है जो कुल्लू घाटी को लाहुल और स्पीति से जोड़ता है। 3978 मीटर की ऊँचाई पर रोहतांग की ऊँचाई पहाड़ी दर्रा और मनाली से 51 KM है।

कुंजुम दर्रा ( Kunjum Pass )

कुंजुम दर्रा या कुंजम ला दर्रा लाहुल को हिमाचल प्रदेश की स्पीति घाटी से जोड़ता है। यह दर्रा  समुद्र तल से 4590 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है।

बारालाचा ला ( Baralacha Pass )

बारालाचा ला (Baralacha la) या बारालाचा दर्रा (Baralacha pass) भारत के हिमाचल प्रदेश राज्य के लाहौल और स्पीति ज़िले में हिमालय की ज़ंस्कार पर्वतमाला में एक 4,890 मीटर (16,040 फुट) की ऊँचाई पर स्थित एक पर्वतीय दर्रा है। यह हिमाचल प्रदेश के लाहौल क्षेत्र को लद्दाख़ प्रदेश के लेह ज़िले से जोड़ता है और इसमें से लेह-मनाली राजमार्ग गुज़रता है।

हामटा दर्रा ( Hamta Pass )

हामटा दर्रा हिमालय में पीर पंजाल श्रेणी पर 4,270 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह दर्रा कुल्लू और लाहौल को जोड़ता है।

शिपकी ला दर्रा ( Shipki La Pass )

शिपकी ला भारत-चीन सीमा पर महत्वपूर्ण आकार के एक दर्जन भवनों के साथ एक पहाड़ी दर्रा और सीमा चौकी है। यह हिमाचल प्रदेश, भारत और तिब्बत, चीन के राज्य में किन्नौर जिले में स्थित है। दर्रा तिब्बत के साथ व्यापार के लिए भारत की सीमा चौकियों में से एक है। यह दर्रा खाब शहर के करीब है। यह समुद्रतल से 4,500 मीटर की ऊंचाई पर है।

पिन पार्वती दर्रा ( Pin Parvati Pass )

पिन पार्वती दर्रा कुल्लू की पार्वती घाटी को लाहुल की पिन घाटी और हिमाचल प्रदेश के स्पीति जिले से जोड़ता है। पिन पारबती पास 5,319 मीटर ऊँचा पर्वत दर्रा है।

टेकिंग ला टेकलिंग ला या पराना दर्रा ( Teking La Pass / Tekling La Pass / Parana Pass )

टेकिंग ला टेकलिंग ला या पराना दर्रा 5,,575 मीटर ऊँचे पर्वत की ऊँचाई पर स्पीति घाटी को लद्दाख से जोड़ने का प्रसिद्ध व्यापार मार्ग है।

बसोदन दर्रा ( BaSodan Pass )

बसोदान दर्रा चंबा जिला में स्थित है, यह दर्रा चंबा और भटियात को जोड़ता है । समुद्रतल से बसोदान दर्रे की ऊंचाई 2,400 मीटर है।

दुल्ची दर्रा ( Dulchi Pass )

यह दर्रा मंडी और कुल्लू को जोड़ता है । समुद्रतल से दुल्ची दर्रा की उंचाई 2,788 मीटर है।

जालोरी दर्रा ( Jalori Pass )

जालोरी दर्रा कुल्लू जिला में स्थित है ( कुल्लू में आंतरिक और बाहरी सिराज ) । समुद्र तल से जालोरी दर्रे की ऊंचाई 3,135 मीटर है ।

रसौल दर्रा ( Rasaul Pass )

समुद्र तल से रसौल दर्रे की उंचाई 3,230 मीटर है। रसौल दर्रा कुल्लू जिले में स्थित है।

जालसू की जोत ( Jalsu Ki Jot )

जालसु की जोत की ऊंचाई समुद्रतल से 3,450 मीटर है। यह जोत कांगड़ा को चंबा से जोड़ता है।

चंद्रखानी पास ( Chandrakhani Pass

चंद्र खानी पास कुल्लू जिला में स्थित है। समुद्र तल से इसकी ऊंचाई 3600 मीटर है। यह रुमसू और पुलाग के बीच मलाणा के प्रसिद्ध गाँव के बीच का रास्ता बनाता है, जो अप्रत्यक्ष रूप से चंदेरखनी दर्रे के पार नग्गर से मलाणा तक एक ट्रैकिंग मार्ग बनाता है।

तैंती दर्रा ( Tainti Pass )

तैंती दर्रा भी कुल्लू जिला में स्थित है। तैंती दर्रे की समुद्रतल से ऊंचाई 3,600 मीटर है।

मकोड़ी जोत ( Makodi Jot )

मकोड़ी जोत हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिला में स्थित है। मकोड़ी जोत की समुद्र तल से ऊंचाई 5,190 मीटर है।

सारी जोत ( Sari Jot )

सारी जोत कुल्लू को कांगड़ा से जोड़ता है। सारी जोत की समुद्र तल से ऊंचाई 3,840 मीटर है।

डुग्गी जोत ( Duggi Jot )

डूग्गी जोत भारमौर को लाहौल से जोड़ता है। दुग्गी जोत की समुद्रतल से ऊंचाई 5,060 मीटर है।

साच दर्रा ( Sach Pass )

साच दर्रा चंबा जिला में स्थित है। साच दर्रा चंबा को पांगी से जोड़ता है। साच दर्रे की समुद्रतल से ऊंचाई 4,395 मीटर है।

तामसर दर्रा ( Tamsar Pass )

तामसर दर्रा कांगड़ा में स्थित है । तामसर दर्रे की समुद्रतल से ऊंचाई 4,572 मीटर है।

List Of Passes And Jots In Himachal Pradesh

हिमाचल प्रदेश में पास और जोतों की सूची

क्र० सं०दर्रे का नामस्थितिसमुद्र तल से ऊंचाई ( मीटर )
1सोदन दर्राचंबा – भटियात2,400
2दुल्ची दर्रामंडी – कुल्लू2,788
3भुवु दर्राजोगिंद्रनगर – कुल्लू2,895
4पादरी दर्राचंबा – जम्मू3,050
5जलोडी दर्राकुल्लू3,135
6खौड़ी दर्राचंबा – कांगड़ा3,150
7रसौल दर्राकुल्लू3,230
8पजानंद दर्रामण्डी – कुल्लू3,280
9खैली दर्राकुल्लू3,440
10जालसू जोतकांगड़ा – चंबा3,450
11चंद्रखानी दर्राकुल्लू3,600
12तैंती दर्राकुल्लू3,600
13 बालेणी जोतकांगड़ा – चंबा3,730
14 सारी जोतकुल्लू – कांगड़ा3,870
15 रोहतांग दर्राकुल्लू – लाहौल3,978
16 हामटा दर्राकुल्लू – स्पीति4,270
17 शिगुर दर्राकांगड़ा – भरमौर4,310
18 इंद्रहार दर्राकांगड़ा – भरमौर4,320
19साच दर्राचंबा – पांगी4,395
20शिपकिला दर्रालाहौल – स्पीति 4,500
21 कुंजुम दर्रालाहौल – स्पीति4,520
22 तामशर दर्राकांगड़ा4,572
23 तेलंग दर्राकांगड़ा – चंबा4,600
24 दराटी दर्राचंबा – पांगी4,720
25 बारालाचा दर्रालाहौल – स्पीति4,8902
26 तेम्पो ला दर्रालाहौल स्पीति4,890
27 छोबिया दर्रालाहौल – भरमौर 4,934
28 कुगती दर्रालाहौल – भरमौर4,961
29 मकोड़ी जोतकांगड़ा5,190
30 पिन पार्वती दर्राकुल्लू – स्पीति5,319
31 लालूनी जोतलाहौल – स्पीति5,440
32भीम घसूतडी जोतकांगड़ा – चंबा 5,440
हिमाचल प्रदेश के प्रमुख दर्रे और जोतें

हिमाचल प्रदेश के प्रमुख दर्रे [ McQ Quiz ]

Results

Congratulations

Repeat Again

#1. हाथीधार किन जिलों की सीमा बनाती है ?

#2. साच पास किस जिले में स्थित है ?

#3. हिमाचल प्रदेश का कौन – सा दर्रा सर्वाधिक ऊँचाई पर है ?

#4. कुगती दर्रा कहाँ पर स्थित है ?

#5. ‘तामशर दर्रा’ किस जिले में पड़ता है ?

#6. शिपकी दर्रा कहाँ से कहाँ तक जाता है ?

#7. कुंजुम दर्रे की ऊँचाई कितनी है ?

#8. ‘हाम्टा दर्रा’ किस जिले में स्थित है ?

#9. निम्नलिखित में से कौन – सा दर्रा हिमाचल प्रदेश के बाहर स्थित है ?

#10. कौन – सा दर्रा चन्द्रभागा का स्त्रोत है ?

#11. कौन – सा पहाड़ी दर्रा स्पीति को लद्दाख से जोड़ता है ?

#12. कौन – सा दर्रा लाहौल को स्पीति से पृथक करता है ?

#13. कौन – सा दर्रा लाहुल क्षेत्र को चम्बा जिले के भरमौर इलाके से जोड़ता है ?

#14. कुंजुम दर्रा कहाँ अवस्थित है ?

#15. मंडी और कुल्लू के बीच कौन सा दर्रा है ?

#16. ‘बारालाचा दर्रा’ (4890 मी.) किस जिले में स्थित है ?

#17. रोहतांग दर्रा किस जिले में स्थित है ?

#18. रोहतांग के अलावा अन्य दर्रा जो लाहौल से कुल्लू को जोड़ता है ?

#19. ‘हाथीधार’ किस जिले में है ?

#20. रोहतांग पास किसके बीच स्थित है ?

#21. ‘दराटी दर्रा’ किस जिले में स्थित है ?

#22. रोहतांग पास (दर्रा) की ऊँचाई कितनी है ?

#23. शिपकी दर्रा किस जिले में है ?

#24. ‘मकोड़ी जोत’ किस जिले में स्थित है ?

#25. ‘भीम घसूतड़ी जोत’ कहाँ पर स्थित है ?

#26. ‘रोहतांग दर्रे’ की ऊँचाई कितनी है ?

#27. ‘छोबिया दर्रा’ कौन – से जिले में स्थित है ?

#28. साच दर्रा किसे जोड़ता है ?

#29. निम्न में से कौन – सा दर्रा चम्बा जिले में स्थित नहीं है ?

#30. ‘पिन पार्वती दर्रा’ जोड़ता है ?

Finish

Leave a Comment

Your email address will not be published.